Majbooriya Lyrics | Nazz

5/5 - (2 votes)

The latest Hindi rap song Majbooriya by well-known rapper Nazz was released on Nazz. Find the correct Majbooriya Hindi rap song lyrics.

📌 Song TitleMajbooriya Lyrics
🎤 SingerNazz
✍️ LyricsNazz
🎼 MusicOutfly
🏷️ Music LabelNazz

करु तारो की माई सहर
देखे काफ़ी चेहरे
तेरे जैसा ना कोई यहां
लगे पानी भी अब ज़हर
तू साथ मेरे ठेर
और समाज मेरी मजबूरिया

जाने जाना तुझे है खादर मेरी ना
तेरे लिए छोड़ी कोई कसार मैंने ना
अदत है किताबे पढ़नेकी तुझे पर
माई वो किताब जो तू समझ पायी पढ़ के भी ना
तेरा प्यार भी क़बूल है
या नफ़रत भी क़बूल है
तूने दिल को मेरे यू चू लिया
कारु सपने हर पूरे
बस साथ मेरे तू रह
और मिटा दे ये सारी दूरिया

करु तारो की माई सहर
देखे काफ़ी चेहरे
तेरे जैसा ना कोई यहां
लगे पानी भी अब ज़हर
तू साथ मेरे ठेर
और समाज मेरी मजबूरिया

माई चाहता हूं साथ तेरा बस
तू समझेगी कला मेरा कब
माई जीतूंगा पूरी ये दुनिया
बस हाथोम हाथ तेरा रख
जानेले तू मुझे मैं नहीं हूं उतना पापी
क्यू सपनें एके तू हकीकत में सती
मन में वक्त देता नहीं तुझे
चाहता माई पर दिखता नहीं तुझे
कों कहता कलाकार बन्ना
आसान है

करु तारो की माई सहर
देखे काफ़ी चेहरे
तेरे जैसा ना कोई यहां
लगे पानी भी अब ज़हर
तू साथ मेरे ठेर
और समाज मेरी मजबूरिया
मेरी मजबूरिया
मेरी मजबूरिया
मेरी मजबूरिया
मेरी मजबूरिया

Karu Taro Ki Mai Seher
Dekhe Kafi Chehre
Tere Jaisa Na Koi Yaha
Lage Pani Bhi Ab Zeher
Tu Sath Mere Theher
Aur Samajh Meri Majbooriya

Jane Jana Tujhe Hai Khadar Meri Na
Tere Liye Chodi Koi Kasar Maine Na
Adat Hai Kitabe Padhneki Tujhe Par
Mai Wo Kitab Jo Tu Samajh Payi Padh Ke Bhi Na
Tera Pyaar Bhi Qabool Hai
Or Nafrat Bhi Qabool Hai
Tune Dil Ko Mere Yu Chu Liya
Karu Sapne Har Poore
Bas Sath Mere Tu Reh
Aur Mita De Ye Sari Dooriya

Karu Taro Ki Mai Seher
Dekhe Kafi Chehre
Tere Jaisa Na Koi Yaha
Lage Pani Bhi Ab Zeher
Tu Sath Mere Theher
Aur Samajh Meri Majbooriya

Mai Chahta Hu Sath Tera Bas
Tu Samjhegi Art Mera Kab
Mai Jeetunga Poori Ye Duniya
Bas Hathome Hath Tera Rakh
Jaanle Tu Mujhe Mai Nahi Hu Utna Papi
Kyu Sapnome Ake Tu Hakikat Mein Satati
Mana Mai Waqt Deta Nahi Tujhe
Chahta Mai Par Dikhta Nahi Tujhe
Kon Kehta Kalakaar Banna
Asaaan Hai

Karu Taro Ki Mai Seher
Dekhe Kafi Chehre
Tere Jaisa Na Koi Yaha
Lage Pani Bhi Ab Zeher
Tu Sath Mere Theher
Aur Samajh Meri Majbooriya
Meri Majbooriya
Meri Majbooriya
Meri Majbooriya
Meri Majbooriya

Leave a Comment